Skip to content

Hello world!

अप्रैल 16, 2009

पीड़ तेरे जान दी किद्दां जरांगा में ,

हस्या तां मैथों जाना नही बस रोएया करांगा में ,

तेरी कल्ली कल्ली गल नु चेते करदा रहांगा में ,

तेरे मुड़ के ओन दी आस ते बूहे खालोएया करांगा में ,

रब्ब नु चेते करण वेले बस चेता तेरा जावे ,

तेरे कीते वादेअन दा भार जिगर ते ढोएया करांगा में ,

तू सुप्नेयाँ दे विच वसदी हैं रातां नु सौन ना देवें तू,

तेरे हंजू बन के आखां तों वख होएया करांगा में ,

तेरी याद ही भूख हुन है मेरी ,तेरी ही है हुन प्यास मेरी तेरे हिज़र दे दिते दुखां नु किवें लाकोएया करांगा में ,
…..JP oldbury वाला दुखां नु यार है मॅन बैठा ,विच गम्मा दी महफिल दे हुन शामिल होएया करांगा में

jaspreet singh